HistoryAncient History

भारत में स्थापत्य कला Quiz : Ancient History Quiz Part-20 | UPSCSITE

Ancient History Quiz Part-20, ancient history quiz part-20, Architecture in India MCQ, architecture in ancient questions, भारत में स्थापत्य कला Quiz, भारत में स्थापत्य कला Quiz questions, architecture in ancient india quiz in hindi, ancient history quiz part-20, ancient history previous year questions, history old paper, ancient history quiz part-20, 

नमस्कार दोस्तों, UPSC SITE आपके लिए लेकर आया है प्राचीन भारत का इतिहास के भारत में स्थापत्य कला Quiz : Ancient History Quiz Part-20 – Objective Question Answer, जिनकी प्रैक्टिस आप ऑनलाइन कर सकते है। हमारे संग्रह टेस्ट्स को प्रैक्टिस करने के बाद आपको अपनी तैयारी में अंतर समझ आने लग जायेगा। क्यूंकि हमने यहां पर केवल उन्ही प्रश्नो को सम्मिलित किया है जो किसी न किसी परीक्षा में पहले पूछे जा चुके है। लगभग भारत की सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रश्न बार – बार दोहराये जाते रहें है।

भारत में स्थापत्य कला Quiz : Ancient History Quiz Part-20

यहां टॉपिक वाइज प्रश्नोत्तरी दिए गए हैं जो प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले सभी एस्पिरेंट्स के लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण एवं लाभदायक साबित होने वाली है। यह ‘प्राचीन भारत का इतिहास’ भारत में स्थापत्य कला Quiz : Ancient History Quiz Part-20 की टेस्ट सीरीज सभी एस्पिरेंट्स के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं के पैटर्न के अनुसार स्मार्ट स्टडी करने में बहुत ही उपयोगी सिद्ध होने वाली है।

381. जगन्नाथपुरी मंदिर के गर्भगृह में भगवान जगन्नाथ सुभद्रा एवं बलभद्र की मूर्तियां बनी है-

  1. पत्थर की
  2. धातु की
  3. लकड़ी की
  4. कांच की

उत्तर – C

जगन्नाथपुरी मंदिर के गर्भगृह में भगवान जगन्नाथ बलभद्र और सुभद्रा की मूर्तियां काष्ठ-निर्मित (लकड़ी की) है। ऐसी मान्यता है कि इन मूर्तियों का निर्माण स्वयं भगवान विष्णु द्वारा बढ़ई के रूप में किया गया था।

382. बोरोबदुर स्तूप कहां स्थित है?

  1. कंबोडिया
  2. जावा
  3. सुमात्रा
  4. बोर्नियों

उत्तर – B

बोरोबदूर का प्रख्यात स्तूप इंडोनेशिया के जावा द्वीप पर स्थित है। यह एक यूनेस्को द्वारा मान्य विश्व विरासत स्थल (World Heritage Site)  है।

383. महाबलीपुरम में रथ मंदिरों का निर्माण करवाया गया था-

  1. चोलों द्वारा
  2. पल्लवों द्वारा
  3. चेदियों द्वारा
  4. चालुक्य द्वारा

उत्तर – B

महाबलीपुरम में रथ मंदिरों का निर्माण पल्लव शासकों द्वारा करवाया गया था। रथ मंदिर एकाश्म पत्थर से निर्मित हैं।

384. निम्नलिखित में से कौन-सा रथ मंदिर सबसे छोटा है?

  1. द्रौपदी रथ
  2. भीम रथ
  3. अर्जुन रथ
  4. धर्मराज रथ

उत्तर- A

पल्लवकालीन मामल्ला शैली में बने रथों या एकाश्मक मंदिरों में द्रौपदी रथ सबसे छोटा हैं। इनमें किसी प्रकार का अलंकरण नहीं मिलता तथा यह सिंह एवं हाथी जैसे पशुओं के आधार पर टिका हुआ है।

385. निम्नलिखित में से कौन-सा से सूर्य मंदिरों के लिए विख्यात है?

  1.  अरसवल्ली
  2. अमरकंटक
  3. ओंकारेश्वर

नीचे दिए गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिए-

  1. केवल 1
  2. केवल 2 और 3
  3. केवल 1 और 3
  4. 1, 2 और 3

उत्तर – A

अरसवल्ली मंदिर भारत के आंध्र प्रदेश में अरसवल्ली गांव में स्थिति सातवीं शताब्दी का एक प्रमुख सूर्य मंदिर माना जाता है। यह माना जाता है कि यह मंदिर कलिंग राजवंश के शासक देवेंद्र वर्मा द्वारा बनवाया गया था। ओकारेश्वर मंदिर मध्य प्रदेश के खंडवा जनपद में स्थित है। यह नर्मदा नदी के बीच मान्धाता या शिवपुरी नामक द्वीप स्थित हैं। यह भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग में से एक है। अमरकंटक नर्मदा, सोन और जोहिला नदी का उद्गम स्थान है। यह मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले में स्थित है। यह हिंदुओं का पवित्र तीर्थ स्थल हैं। श्री ज्वालेश्वर महादेव मंदिर अमरकंटक से 8 किलोमीटर दूर शहडोल रोड पर स्थित है। यह खूबसूरत मंदिर भगवान शिव को समर्पित है।

भारत में स्थापत्य कला Quiz

386. दिलवाड़ा जैन मंदिर स्थित है-

  1. पालीताना में
  2. माउंट आबू में
  3. सोनगिरि में
  4. गिरनार में

उत्तर – B

दिलवाड़ा के जैन मंदिर माउंट आबू ( सिरोही, राजस्थान) में स्थित है। इनमें सबसे प्रसिद्ध है विमल वासाही मंदिर हैं। चालुक्य शासक भीमदेव प्रथम के सामंत विमलशाह ने इसे बनवाया था।

387. प्रसिद्ध विरुपाक्ष मंदिर कहां अवस्थित है?

  1. भद्राचलम
  2. चिदंबर
  3. हंपी
  4. श्रीकालहस्ती

उत्तर – C

विरुपाक्ष मंदिर कर्नाटक राज्य में हम्पी में स्थित हैं। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है, जो यहां वीरूपाक्ष के नाम से जाने जाते हैं।

388. नागर, द्रविड़ और बेसर है-

  1. भारतीय उपमहाद्वीप के तीन मुख्य जातीय समूह
  2. तीन मुख्य भाषा वर्ग, जिसमें भारत की भाषाओं को विभक्त किया जा सकता है।
  3. भारतीय मंदिर वास्तु के तीन मुख शैलियां
  4. भारत में प्रचलित तीन मुख्य संगीत घराने

उत्तर- C

नागर, द्रविड़य तथा बेसर भारतीय मंदिर वास्तु के तीन मुख्य शैलियां है। नागर शैली समस्त उत्तरी भारत में प्रचलित हैं। उड़ीसा के मंदिर शुद्ध रूप से इसी शैली के हैं। द्रविड़ शैली का प्रसार दक्षिण भारत विशेषकर कृष्णा नदी एवं कुमारी अंतरीप के मध्य (तमिलनाडु) में था। बेसर शैली का विकास, नागर एवं द्रविड़ शैली से मिश्रण से हुआ। कन्न्ड़ प्रदेश के अंतिम चालुक्य शासकों के द्वारा प्रयुक्त होने के कारण इस शैली को चालुक्य शैली भी कहते हैं।

389. भारत के कला और पुरातत्विक इतिहास के संदर्भ में, निम्नलिखित में से किस एक सबसे पहले निर्माण किया गया था?

  1. भुनेश्वर स्थिति लिंगराज मंदिर
  2. धोली स्थित शैलकृत हाथी
  3. महाबलीपुरम स्थित शैलकृत स्मारक
  4. उदयगिरि स्थित वराह मूर्ति

उत्तर – B

390. नवी शताब्दी ई. में निम्नलिखित में से किसके द्वारा चोल साम्राज्य की नींव डाली गई?

  1. कृष्णा
  2. राजराज चोल
  3. विजयालय
  4. परांतक

उत्तर- C

चोल साम्राज्य की स्थापना विजयालय ने की, जो आरंभ में पल्लवों का एक सामंती सरदार था। उससे 850 ई. में तंजौर को अपने अधिकार में कर लिया। इस समय पल्लवों एवं पाण्ड्यों में निरंतर संघर्ष चल रहा था। पाण्ड्य की निर्बल स्थिति का लाभ उठाकर विजयालय ने तंजौर पर अधिकार जमा लिया तथा वहां उसने दुर्गा देवी का एक मंदिर बनवाया विजयालय ने लगभग 871 ई तक राज्य किया।

भारत में स्थापत्य कला Quiz

391. निम्नलिखित में से किस मंदिर परिसर में एक भारी-भरकम नंदी की मूर्ति है, जिसे भारत की विशालतम नंदी मूर्ति माना जाता है?

  1. वृहदीश्वर मंदिर
  2. लिंगराज मंदिर
  3. कंदरिया महादेव मंदिर
  4. लेपाक्षी मंदिर 

उत्तर – A

चोल स्थापत्य के उत्कृष्ट नमूने तंजौर के शैव मंदिर, जो राजराजेश्वर या वृहदीश्वर नाम से प्रसिद्ध है, का निर्माण राज राज प्रथम के काल में हुआ था। भारत के मंदिरों में सबसे बड़ा तथा लंबा यह मंदिर द्रविड़ शैली का सर्वोत्तम नमूना माना जा सकता। इसका विशाल प्रांगण 500′ × 250′ के आकार का हैं। मंदिर के प्रवेश द्वार पर दोनों ओर द्वारपालों की मूर्तियां बनी है। इस मंदिर के बहिभार्ग में नंदी की एकाश्म विशाल मूर्ति बनी है, जिसे भारत की विशालतम नदी मूर्ति माना जाता है।

392. चोरों का राज्य किस क्षेत्र में फैला था?

  1. विजयनगर क्षेत्र
  2. मालाबार तट 
  3. होयसल
  4. कोरोमंडल तट, दक्कन के कुछ भाग

उत्तर – D

कृष्णा तथा तुंगभद्रा नदियों से लेकर कुमारी अंतरीप तक का विस्तृत भू-भाग प्राचीन काल में तमिल प्रदेश का निर्माण करता था। इसमें कोरोमंडल तट तथा दक्कन के कुछ भाग यथा- उरैयुर, कावेरीपट्टनमगया, तंजावुर आदि चोलों के अधिकार में थे।

393. चोलों की राजधानी थी-

  1. कावेरीपत्तन 
  2. महाबलीपुरम 
  3. काची 
  4. तंजौर

उत्तर – D

प्रश्न गत विकल्पों में चोलों की राजधानी तंजौर थी। इसके अतिरिक्त गंगैकोंडचोलपुरम भी चोलों की राजधानी बनी थी। संगम काल में चोलों की राजधानी उरैयूर थी।

394. निम्नलिखित में से कौन चोल प्रशासन की विशेषता थी?

  1. साम्राज्य का मंडलम में विभाजन
  2. ग्राम प्रशासन की स्वायत्ता
  3. राज्य के मंत्रियों को समस्त अधिकार
  4. कर संग्रहित प्रणाली का सस्ता व उचित होना

उत्तर – B

चोल शासन की सबसे उल्लेखनीय विशेषता वह असाधारण शक्ति तथा क्षमता है, जो स्वायत्तशासी ग्रामीण संस्थाओं के संचालन में परिलक्षित होती है। वस्तुतः इस काल में स्वायत्त शासन पूर्णतया ग्रामों में ही क्रियान्वित किया गया।

395. चोलों के अधीन ग्राम प्रशासन ने बहुत से ब्यौरे जिन शिलालेख में है, वह कहां है?

  1. तंजावुर
  2. उरैयुर
  3. कांचीपुरम
  4. उत्तर मेरुर

उत्तर- D

चोलों के अधीन ग्राम प्रशासन में ग्राम सभा की कार्यकारिणी समितियों की कार्यप्रणाली का विस्तृत विवरण हम उत्तर मेरूर से प्राप्त लेखों के माध्यम से प्राप्त करते हैं। प्रत्येक ग्राम में अपनी सभा होती थी, जो प्रायः केंद्रीय नियंत्रण से मुक्त होकर स्वतंत्र रूप से ग्राम प्रशासन का संचालन करती थी।

भारत में स्थापत्य कला Quiz

396. चोल शासकों के शासनकाल में निम्नलिखित में से कौन-सा वारियम उद्यान प्रशासन का कार्य देखता था?

  1. पान वारियम
  2. एरि वारियम
  3. टोठ्ठ वारियम
  4. सम्वत्सर वारियम

उत्तर- C

चोल कालीन गांवों के गतिविधियों की देखरेख एक कार्यकारिणी समिति करती थी, जिसे ‘वारियम’ कहा जाता था। उद्यान प्रशासन का कार्य देखने वाली समिति को ‘टोठ्ठ वारियम’ कहा जाता है, जबकि सम्वत्सर वारियम वार्षिक समिति, एरि वारियम तालाब समिति तथा पोन वारियम स्वर्ण समिति थी।

397. निम्न कथनों पर विचार कीजिए-

  1. चोलों ने पाण्ड्य तथा चेर शासकों को पराजित कर प्रायद्वीपीय भारत पर प्रारंभिक मध्यकालीन समय में अपना प्रभुत्व स्थापित किया।
  2. चोलों ने दक्षिण-पूर्वी एशिया के शैलेंद्र साम्राज्य के विरुद्ध सैन्य चढ़ाई की तथा कुछ क्षेत्रों को जीता।

उपयुक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है?

  1. केवल 1
  2. केवल 2
  3. दोनों 1 और 2
  4. दोनों में से कोई भी नहीं

उत्तर – C

द्रविड़ देश में चोल आधिपत्य की स्थापना वस्तुतः परांतक प्रथम ने की थी। उसने मदुरा के पाण्ड्य राजा को हराकर ‘मदुरैकोंड उपाधि’ धारण की। राजराज-I तंजोर अभिलेख के अनुसार, सिंघल (श्री लंका) के राजा महेंद्र पंचम ने पाण्ड्य, केरल (चेर) के राजाओं का एक संघ बनाया, जो चोल नरेश राजराज प्रथम के विरुद्ध था। इस संघ का भेदन करने के लिए राजराज प्रथम में सबसे पहले चेर राज्य (केरल) पर आक्रमण किया और कंदलूर के मैदान में परास्त किया। राजराज-I एवं उसके पुत्र राजेंद्र-I दक्षिण-पूर्वी एशिया के शैलेंद्र साम्राज्य के विरुद्ध सैन्य चढ़ाई की तथा कुछ क्षेत्रों को जीत लिया। अतः दोनों कथन सही है।

398. चोल काल में निर्मित नटराज की कांस्य प्रतिमाओं में देवाकृति प्रायः –

  1. अष्टक भुज हैं
  2. षड्भुज
  3. चतुर्भुज हैं
  4. द्विभुज हैं

उत्तर – C

चोल कलाकारों में तक्षण कला में भी सफलता प्राप्त की है। उन्होंने पत्थर तथा धातु की बहुसंख्यक मूर्तियों का निर्माण किया। पेशंस मूर्तियों से भी अधिक धातु (कांस्य) मूर्तियों का निर्माण हुआ। सर्वाधिक सुंदर मूर्तियां नटराज (शिव) की है, जो बड़ी संख्या में मिली है। इन्हें शिव की श्रेष्ठतम प्रतिमा-रचनाओं में शामिल किया जाता है। ये मूर्तियाँ प्रायः चतुर्भुज है।

399. शिव की ‘दक्षिणामूर्ति’ प्रतिमा उन्हें किस रूप में प्रदर्शित करती है?

  1. शिक्षक
  2. नृत्य करते हुए
  3. विश्राम करते हुए
  4. ध्यान मग्न

उत्तर- A

शिव की ‘दक्षिणामूर्ति’ प्रतिमा उन्हें गुरु (शिक्षक) के रूप में प्रदर्शित करती है। इस रूप में शिव अपने भक्तों को सभी प्रकार का ज्ञान प्रदान करते हुए माने गए हैं। इस रुप में शिव की दक्षिण दिशा में मुख किए हुए प्रतिमा स्थापित की गई है।

400. 72 व्यापारी, चीन में किसके कार्यकाल में भेजे गए थे?

  1. कुलोत्तुंग-I
  2. राजेंद्र-I
  3. राजराज-I
  4. राजधिराज-I

उत्तर – A

चोल शासक के कुलोत्तुंग-I शासनकाल में 1077 ई. में 72 सौदागरों का एक चोल दूत मंडल चीन भेजा गया था।

UPSCSITE के साथ ‘प्राचीन भारत का इतिहास’ भारत में स्थापत्य कला Quiz : Ancient History Quiz Part-20 की मदद से, सभी छात्र जो विभिन्न प्रतियोगी या प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, वे आसानी से हमारी वेबसाइट तैयारी और अभ्यास कर सकते हैं। IBPS, RRB, SSC CGL, GRI, SSC CHSL, SSC MTS, CET, BANKING SECTOR, IT Company Recruitment Round, UPSC, State PCS, SSC, SSSC, University Entrance Exam, CDS, NDS, जैसे कई प्रतियोगी परीक्षाएं विभिन्न सरकारों के साथ-साथ निजी संगठनों द्वारा अन्य परीक्षाओं के लिए भारतीय इतिहास पर प्रश्न शामिल हैं।

Join Telegram Click Here
Whatsapp Group Click Here
Doubt Solution Group Join us

UPSC के लिए UPSCSITE की सामान्य ज्ञान भारतीय इतिहास भारत में स्थापत्य कला Quiz : Ancient History Quiz Part-20 के रूप में सामान्य ज्ञान और सामान्य जागरूकता प्रश्न और उत्तर की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल है। ये भारतीय इतिहास मॉक टेस्ट उन सभी विषयों को कवर करते हैं जो सभी छात्रों के लिए किसी भी प्रतियोगी परीक्षा के लिए उपयोगी हो सकते हैं।

For getting all UPSCSITE, subject wise mcq series, & government job notification visit our website regularly. Type always google search upscsite.in

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button