Ancient History Quiz Part-11 Mcq | Here you can easily solve that topic (2023) | UPSCSITE

By | December 28, 2021

यूपीएससी, यूपीपीसीएस, अन्य राज्य पीसीएस, एनडीए, सीडीएस, सीएपीएफ परीक्षाओं के लिए प्राचीन भारत इतिहास बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तरी Ancient History Quiz Part-11 Mcq

प्राचीन इतिहास Ancient History Quiz Part-11 Mcq

  • पाषाण काल-✔
  • सैंधव सभ्यता एवं संस्कृति-✔
  • वैदिक काल-✔
  • बौद्ध धर्म-✔
  • जैन धर्म-✔
  • शैव, भागवत धर्म-✔
  • छठी शताब्दी ई.पू.
  • यूनानी आक्रमण
  • मौर्य साम्राज्य
  • मौर्योत्तर काल
  • गुप्त एवं गुप्तकाल
  • प्राचीन भारत में स्थापत्य कला
  • दक्षिण भारत (चोल , चालुक्य, पल्लव एवं संगम युग)
  • प्राचीन साहित्य
  • पूर्व मध्यकाल

Ancient History Quiz Part-11 Mcq

शैव, भागवत धर्म (Mcq)

टोटल प्रश्न- 20

समय- 10 मिनट

“All The Best”

19
Created on

Ancient History Quiz Part-11 (MCq) - हिंदी में

शैव, भागवत धर्म (Mcq)

टोटल प्रश्न- 20

समय- 10 मिनट

"All The Best"

1 / 20

201.प्राचीन भारत के विश्वोतपति (Cosmogonic)  विषयक धारणाओं के अनुसार, चार युगों के चक्र का कर्म इस प्रकार है-

2 / 20

202.निम्नलिखित में से कौन सा प्राचीन भारत में शैव संप्रदाय था?

3 / 20

203.अर्धनारीश्वर मूर्ति में आधा शिव तथा आधा पार्वती प्रतीक है-

4 / 20

204.नयनार कौन थे?

5 / 20

205.निम्नलिखित में से कौन अलवार संत नहीं था?

6 / 20

206.भागवत संप्रदाय के विकास में किसका दिन अत्यधिक था?

7 / 20

207.भागवत धर्म के प्रवर्तक थे-

8 / 20

208.निम्नलिखित में से किस देवता को कला में हल लिए प्रदर्शित किया गया है?

9 / 20

209.भागवत संप्रदाय में भक्तों के रूपों की संख्या है-

10 / 20

210.विष्णु के अवतार को सागर से पृथ्वी का उद्धार करते हुए अंकित किया जाता है?

11 / 20

211.भारत में आस्तिक और नास्तिक संप्रदायों में कौन सा विभेदक लक्षण हैं?

12 / 20

212.अधोलिखित में से कौन गीता की मुख्य शिक्षा है?

13 / 20

213.रामायण के किस कांड में राम और हनुमान की पहली भेंट का वर्णन है?

14 / 20

214.कालिका पुराण किस धर्म से संबंधित है?

15 / 20

215.पूरी में रथयात्रा किसके सम्मान में निकाली जाती है?

16 / 20

216.नासिक में कुंभ मेला निम्न में से किस एक नदी तट पर लगता है-

17 / 20

छठी शती ई. पू. - राजनीतिक दशा

217.भारत के प्राचीनतम प्राप्त सिक्के-

18 / 20

218.निम्नलिखित में से कौन-सा सही सुमेलित नहीं हैं?

19 / 20

219.चंड-प्रद्योत चित्र प्राचीन गणराज्य के राजा थे?

20 / 20

220. अभिलेखीय साक्ष्य से प्रकट होता है कि नंद राजा के आदेश से एक नहर को दी गई थी-

Your score is

The average score is 41%

0%

Ancient History Quiz Part-10 Mcq विश्लेषण –

181. महावीर जैन की मृत्यु निम्नलिखित में से किस नगर में हुई?

  1. राजगीर
  2. सांची
  3. पावापुरी
  4. समस्तीपुर

उत्तर- 3

72 वर्ष की आयु में लगभग राजगृह (राजगीर) के समीप स्थित पावापुरी नामक स्थान पर महावीर स्वामी ने शरीर त्याग दिया।

182. तीर्थंकर शब्द संबंधित है-

  1. बौद्ध
  2. ईसाई
  3. हिंदू
  4. जैन

उत्तर- 4

‘तीर्थंकर’ शब्द जैन धर्म से संबंधित है। जैन धर्म में कुल 24 तीर्थंकर माने जाते हैं, जिन्होंने समय-समय पर जैनधर्म का प्रचार प्रसार किया। जैन धर्म के प्रथम तीर्थ ऋषभदेव थे तथा अंतिम तीर्थंकर महावीर स्वामी थे।

183. जैन तीर्थंकरो के क्रम में अंतिम कौन था?

  1. पार्श्वनाथ
  2. ऋषभदेव
  3. महावीर
  4. मणिसुवर्त

उत्तर- 3

184. निम्नलिखित में से कौन एक जैन तीर्थकर नहीं था?

  1. चंद्रप्रभु
  2. नाथमुनि
  3. नेमी
  4. संभव

उत्तर- 2

नाथ मुनि जैन तीर्थ कर नहीं थे।

185. प्रभासगिरि जिनका तीर्थ स्थल है, वह है-

  1. बौद्ध
  2. जैन
  3. शैव
  4. वैष्णव

उत्तर- 2

Go For- Ancient History Quiz Part-11 Mcq

प्रभासगिरी उत्तर प्रदेश के कौशांबी स्थित जैन तीर्थ स्थल है। कौशांबी का प्रभासगिरी स्थल छठवें जैन तीर्थकर पदमप्रभ से संबंधित है।

186. जैन धर्म में ‘पूर्ण ज्ञान’ के लिए क्या शब्द है?

  1. जिन
  2. रत्न
  3. कैवल्य
  4. निर्वाण

उत्तर- 3

जैन धर्म में ‘पूर्ण ज्ञान’ के लिए कैवल्य शब्द का प्रयोग किया गया है। महावीर स्वामी को 12 वर्षों की कठोर तपस्या तथा साधना के पश्चात जृम्भिकाग्राम के समीप ऋजुपालिका नदी के तट पर 1 साल वृक्ष के नीचे के कैवल्य (पूर्ण ज्ञान) प्राप्त हुआ था।

187. त्रिरत्न सिद्धांत सम्यक ज्ञान, सम्यक चरित्र एवं सम्यक ज्ञान जिस धर्म की महिमा है, वह है-

  1. बौद्ध धर्म
  2. ईसाई धर्म
  3. जैन धर्म
  4. उपयुक्त में से कोई नहीं

उत्तर- 3

जैन धर्म में मोक्ष के लिए तीन साधन आवश्यक बताए गए हैं- सम्यक धारण (दर्शन), सम्यक चरित्र एवं सम्यक ज्ञान। इन तीनों को जैन धर्म में ‘त्रिरत्न’ की संज्ञा दी गई है।

188. स्यादवाद सिद्धांत है-

  1. लोकायत धर्म का
  2. शैव धर्म का
  3. जैन धर्म का
  4. वैष्णव धर्म का

उत्तर- 3

महावीर स्वामी जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर थे, इन्होंने वेदों की अपुरुषेयता स्वीकार करने से इनकार कर दिया था तथा धार्मिक-सामाजिक रूढ़ियों एवं पाखंडो का विरोध किया। उन्होंने आत्मवादियों तथा नास्तिकों एकांतिक मतों को छोड़कर बीच का मार्ग अपनाया जिसे ‘अनेकांतवाद’ अथवा ‘स्यादवाद’ कहा गया।

189. जैन धर्म के अनुसार, सृष्टि की रचना एवं पालन-पोषण –

  1. सार्वभौमिक विधान से हुआ है।
  2. सार्वभौमिक सत्य से हुआ है।
  3. सार्वभौमिक आस्था से हुआ है।
  4. सार्वभौमिक आत्मा से हुआ है।

उत्तर- 1

जैन दर्शन के अनुसार, समस्त विश्व जीव तथा अजीव नामक दो नित्य एवं स्वतंत्र तत्वों से मिलकर बना है।

जीव चेतन तत्व है, जबकि अजीव अचेतन जड़ तत्व हैं। यहां जीव से तात्पर्य उपनिषदों की सार्वभौमिक आत्मा से ना होकर व्यक्तिगत आत्मा से है । जैन मतानुसार, आत्माएं अनेक होती तथा सृष्टि के कण-कण में जीवो का वास है। अतः विकल्प A सही है, जिसमें उल्लेखित है कि जैन दर्शन के अनुसार सृष्टि की रचना एवं पालन पोषण सार्वभौमिक विधान से हुआ है। इसका कोई संचालक या नियंत्रण करता नहीं है ।

190. अनेकतांबाद निम्नलिखित में से किसका क्रोड सिद्धांत एवं दर्शन है?

  1. बौद्धमत
  2. जैन मत
  3. सिख मत
  4. वैष्णव मत

उत्तर- 2

अनेकतांवाद जैन धर्म का क्रोड सिद्धांत एवं दर्शन हैं। इसे सप्तभंगी सिद्धांत भी कहते हैं।

Go For- Ancient History Quiz Part-11 Mcq

191. निम्नलिखित में से कौन सा धर्म ‘विश्व विनाशकारी प्रलय’ की अवधारणा में विश्वास नहीं करता ?

  1. बौद्ध धर्म
  2. जैन धर्म
  3. हिंदू धर्म
  4. इस्लाम

उत्तर- 2

जैन धर्म में ईश्वर की कल्पना नहीं की गई है। जगत की सृष्टि नहीं की गई है, उनके अनुसार संसार नित्य और और शाश्वत है। इसमें किसी समय प्रलय नहीं होता।

192. जैन धर्म का आधारभूत बिंदु है-

  1. कर्म
  2. निष्ठा
  3. अहिंसा
  4. विराग

उत्तर- 3

अहिंसा जैन धर्म का आधारभूत बिंदु है। जैन धर्म में सम्यक चरित्र के अंतर्गत परिव्राजकों अथवा तापसों के लिए अहिंसा, सत्य, अस्तेय, ब्रह्मचर्य अपरिग्रह नामक पंच महाव्रत की व्यवस्था की गई है।

193. यापनीय किसका एक संप्रदाय था?

  1. बौद्ध धर्म का
  2. जैन धर्म का
  3. शैव धर्म का
  4. वैष्णव धर्म का

उत्तर- 2

‘यापनीय’ जैन धर्म का एक संप्रदाय था। जिसकी उत्पत्ति यद्यपि दिगंबर संप्रदाय से हुई तथापि यह कतिपय श्वेतांबर मान्यताओं का भी पालन करते थे।

194. भारत के धार्मिक प्रथाओं के संदर्भ में ‘स्थानकवासी’ संप्रदाय का संबंध किससे है?

  1. बौद्ध मत
  2. जैन मत
  3. वैष्णव मत
  4. शैव मत

उत्तर- 2

स्थानकवासी श्वेतांबर जैनों का एक संप्रदाय है। इसकी स्थापना 1476 ईस्वी में हुई थी। यह संप्रदाय अपने पूर्ववर्ती सुधारवादी संप्रदाय ‘लोंका’ जिसकी स्थापना लोकाशा ने की थी, से उत्पन्न हुआ।

इस संप्रदाय के लोग मूर्तियों की पूजा नहीं करते।

195. निम्नलिखित में से कौन सबसे पूर्वकालिक जैन ग्रंथ कहलाता है?

  1. बारह अंक 
  2. बारह उपांग
  3. चौदह पूर्व
  4. चौदह उपपूर्व

उत्तर- 3

चौदह पूर्व प्राचीनतम जैन ग्रंथ हैं।अंतिम राजा के समय में सभभूतविजय तथा भद्रबाहु जैन संघ के अध्यक्ष थे तथा ये ही महावीर द्वारा प्रदत्त 14 पूर्वों के विषय में जानने वाले अंतिम व्यक्ति थे।

Go For- Ancient History Quiz Part-11 Mcq

196. प्रारंभिक जैन साहित्य निम्नलिखित में से किस भाषा में लिखे गए?

  1. अर्ध-मगधी
  2. पाली
  3. प्राकृत
  4. संस्कृत

उत्तर- 1

प्रायः सभी प्रारंभिक धार्मिक जैन साहित्य प्राकृत के विशिष्ट शाखा अर्धमगधी में लिखे गए हैं। इसके बारह अंग अर्धमगधी में ही है बाद में जैन धर्म ने प्राकृत भाषा को अपनाया।

यह ग्रंथ ईसा की छठी शताब्दी में गुजरात में वल्लभी नामक स्थान पर अंतिम रूप से संकलित किए गए हैं।

आज जैन साहित्य में लगभग सभी भाषाओं में अनुदित है।

197. निम्नलिखित में से कौन सा स्थल पार्श्वनाथ से संबंध होने के कारण जैन-सिद्ध क्षेत्र माना जाता है?

  1. चंपा
  2. पावा
  3. सम्मेद शिखर
  4. ऊर्जयंत

उत्तर- 3

पार्श्वनाथ जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर थे, जिनका जन्म वाराणसी में महावीर स्वामी से 250 वर्ष पहले लगभग 850 ई. पूर्व में हुआ था। काशी के शासक इक्ष्वाकुवंश अश्वसेन उनके पिता थे तथा महारानी वामा उनकी माता।

30 वर्ष की आयु के बाद उन्होंने गृह त्याग कर अपना जीवन वैराग्य और तपशचर्या में लगाया। वाराणसी के निकट आश्रमपद उद्यान में समाधिस्थ होकर कठिन तपस्या करने के उपरांत, उन्होंने 84वें दिन कैवल्य प्राप्त हुआ। पार्श्वनाथ का परिनिर्वाण सम्मेत शिखर क्षेत्र माना जाता है।

198. निम्नलिखित में से कौन सा आरंभिक जैन साहित्य का भाग नहीं है?

  1. थेरीगाथा
  2. आचारंगसूत्र
  3. सूत्रकृतांग
  4. बृहतकल्पसूत्र

उत्तर- 1

थेरीगाथा बौद्ध साहित्य है। आचारांगसूत्र, सूत्रकृतांग और बृहतकल्पसूत्र आरंभिक जैन साहित्य के भाग हैं।

199. भगवान महावीर का प्रथम शिष्य था।

  1. जमाली
  2. योसुद
  3. विपिन
  4. प्रभाष

उत्तर- 1

भगवान महावीर की पत्नी का नाम यशोदा था, उनसे प्रियदर्शन नामक एक पुत्री उत्पन्न हुई। उस पुत्री का विवाह जमाली नाम के क्षत्रिय से हुआ था, जो बाद में महावीर स्वामी का अनुयाई बन गया यह उनका प्रथम शिष्य था।

200. किस जनसभा में अंतिम रूप से श्वेताम्बर आगम का संपादन हुआ?

  1. वैशाली में
  2. वल्लभ में
  3. पावा में
  4. पाटलिपुत्र में

उत्तर- 4

चंद्रगुप्त मौर्य के शासनकाल में पाटलिपुत्र में प्रथम जैन सम्मेलन आयोजित किया गया जिसमें श्वेतांबर आगम का संपादन किया गया।

Go For- Ancient History Quiz Part-11 Mcq

अगर आपके मन में कोई भी प्रश्न हैं। हमें कमेंट के जरिए बता सकते हैं, हम आपके कमेंट का जरूर रिप्लाई करेंगे। For any query regarding upsc, test series, subjectwise mock test. You can comment in the comment section below or send your query to email address.

Previous Test Part :-

Join Telegram Channel –Link
Join Whatsapp Group –Link
UPSC Doubt Discussion Group –Join us
Go For- Ancient History Quiz Part-11 Mcq

For getting all UPSC, subject wise mcq series, test series 2022 & government job notification visit our website regularly. Type always google search upscsite.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.