Ancient HistoryHistoryLatest Post

Vedic Period MCQ [30+ Ques] : वैदिक सभ्यता प्रश्नोत्तरी | UPSCSITE

Vedic Period MCQ, Vedic Period Questions, Vedic Period Quiz, Vedic Period Quiz in hindi, Vedic Period mcq hindi me, ancient history previous year questions, history old paper, Vedic Period mcq for upsc, GK Vedic Period MCQ, वैदिक सभ्यता प्रश्नोत्तरी upsc, वैदिक सभ्यता प्रश्नोत्तरी pdf, वैदिक सभ्यता बहुविकल्पीय प्रश्न, वैदिक सभ्यता बहुविकल्पीय प्रश्न pdf,

नमस्कार दोस्तों, UPSC SITE आपके लिए लेकर आया है “प्राचीन भारत का इतिहास” Vedic Period MCQ [30+ Ques] : वैदिक सभ्यता प्रश्नोत्तरी – Objective Question Answer, जिनकी प्रैक्टिस आप ऑनलाइन कर सकते है। हमारे संग्रह टेस्ट्स को प्रैक्टिस करने के बाद आपको अपनी तैयारी में अंतर समझ आने लग जायेगा। क्यूंकि हमने यहां पर केवल उन्ही प्रश्नो को सम्मिलित किया है जो किसी न किसी परीक्षा में पहले पूछे जा चुके है। लगभग भारत की सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रश्न बार – बार दोहराये जाते रहें है।

Vedic Period MCQ [30+ Ques] : वैदिक सभ्यता प्रश्नोत्तरी

यहां टॉपिक वाइज प्रश्नोत्तरी दिए गए हैं जो प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले सभी एस्पिरेंट्स के लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण एवं लाभदायक साबित होने वाली है। यह “प्राचीन भारत का इतिहास” Vedic Period MCQ [30+ Ques] : वैदिक सभ्यता प्रश्नोत्तरी की टेस्ट सीरीज सभी एस्पिरेंट्स के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं के पैटर्न के अनुसार स्मार्ट स्टडी करने में बहुत ही उपयोगी सिद्ध होने वाली है।

1.सबसे पुराना वेद कौन-सा है ?

  1. यजुर्वेद
  2. ऋग्वेद
  3. सामवेद
  4. अथर्ववेद

उत्तर- 2

भारतीय साहित्य में वेद चार हैं-ऋग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद तथा अथर्ववेद। इनमें ऋग्वेद सर्वाधिक प्राचीन माना जाता है।

2. किस वैदिक ग्रंथ में ‘वर्ण’ शब्द का सर्वप्रथम नामोल्लेख मिलता है?

  1. ऋग्वेद
  2. अथर्ववेद
  3. सामवेद
  4. यजुर्वेद

उत्तर- 1

‘वर्ण’ शब्द का सर्वप्रथम उल्लेख ऋग्वेद में मिलता है। ऋग्वेद में ‘वर्ण’ शब्द रंग के अर्थ में तथा कहीं-कहीं व्यवसाय चयन के अर्थ में प्रयुक्त हुआ है। आयों को गौर वर्ण तथा दासों को कृष्ण वर्ण का कहा गया है। ऋग्वेद  के दसवें मंडल के पुरुषसूक्त में सर्वप्रथम ‘शूद्र’ शब्द मिलता है।

3. निम्नलिखित चार वेदों में से किस एक में जादुई माया और वशीकरण का वर्णन है?

  1. ऋग्वेद 
  2. यजुर्वेद
  3. अथर्ववेद
  4. सामवेद

उत्तर- 3

4. निम्नलिखित में से कौन-सा ब्राह्मण ग्रंथ ऋग्वेद से संबंधित है?

  1. ऐतरेय ब्राह्मण
  2. गोपथ ब्राह्मण
  3. शतपथ ब्राह्मण
  4. तैत्तिरीय ब्राह्मण

उत्तर- 1

ब्राह्मण ग्रंथ यज्ञों तथा उनके अनुष्ठान के विधि-विधानों के संबंध में जानकारी देते हैं। ऐतरेय ब्राह्मण तथा कौशीतकि ब्राह्मण ऋग्वेद से, ताण्ड्य ब्राह्मण, पंचविश या ताण्ड्य ब्राह्मण तथा जैमिनीय ब्राह्मण सामवेद से, शतपथ ब्राह्मण यजुर्वेद से, जबकि गोपथ ब्राह्मण अथर्ववेद से संबद्ध है।

5. ऋग्वेद का कौन-सा मंडल पूर्णतः ‘सोम’ को समर्पित है?

  1. सातवां मंडल
  2. आठवां मंडल
  3. नौवां मंडल
  4. दसवां मंडल

उत्तर- 3

ऋग्वेद में कुल 10 मंडल हैं। इसके नौवें मंडल के सभी 114 सूक्त ‘सोम’ को समर्पित हैं।

Vedic Period MCQ

6. ‘यज्ञ’ संबंधी विधि-विधानों का पता चलता है-

  1. ऋग्वेद से
  2. सामवेद से
  3. ब्राह्मण ग्रंथों से
  4. यजुर्वेद से

उत्तर- D

‘यज्ञ’ संबंधी विधि-विधानों का पता यजुर्वेद से चलता है। यजुर्वेद के दो भाग हैं-शुक्ल यजुर्वेद तथा कृष्ण यजुर्वेद।

7. भारत के किस स्थल की खुदाई से लौह धातु के प्रचलन के प्राचीनतम प्रमाण मिले हैं?

  1. तक्षशिला
  2. अतरंजीखेड़ा
  3. कौशाम्बी
  4. हस्तिनापुर

उत्तर- 2

अहिच्छत्र, अतरंजीखेड़ा, आलमगीरपुर, मथुरा, रोपड़, श्रावस्ती, काम्पिल्य आदि स्थानों की खुदाइयों से लौह युगीन संस्कृति के अवशेष प्राप्त हुए हैं। अतरंजीखेड़ा से लौह धातु मल तथा धातु शोधन में प्रयुक्त होने वाली भट्ठियां मिली हैं, जिनसे यह संकेत मिलता है कि यहां लौह धातु को गलाने का कार्य स्थानीय रूप से होता था।

8. निम्नलिखित में से किस एक वैदिक साहित्य में मोक्ष की चर्चा मिलती है?

  1. ऋग्वेद
  2. परवर्ती संहिताएं
  3. ब्राह्मण
  4. उपनिषद

उत्तर – 4

वेदों में मोक्ष शब्द प्रयुक्त नहीं हुआ है। उपनिषदों में प्रथम बार मोक्ष की चर्चा मिलती है। यह शब्द श्वेताश्वर उपनिषद में पहली बार आया है।

9. निम्नलिखित में से वैदिक साहित्य का सही क्रम कौन-सा है ?

  1. वैदिक संहिताएं, ब्राह्मण, आरण्यक, उपनिषद 
  2. वैदिक संहिताएं, उपनिषद, आरण्यक, ब्राह्मण 
  3. वैदिक संहिताएं, आरण्यक, ब्राह्मण, उपनिषद 
  4. वैदिक संहिताएं, वेदांग, आरण्यक, स्मृतियां

उत्तर- 1

वैदिक संहिताओं का सही क्रम है-वैदिक संहिताएं, ब्राह्मण, आरण्यक, उपनिषद

10. आरंभिक वैदिक साहित्य में सर्वाधिक वर्णित नदी है- 

  1. सिंधु
  2. शुतुद्री 
  3. सरस्वती
  4. गंगा

उत्तर- 1

सिंधु नदी का ऋग्वैदिक काल में सर्वाधिक महत्व था, इसी कारण इसका उल्लेख ऋग्वेद में सर्वाधिक हुआ है। सिंधु नदी को उसके आर्थिक महत्व के कारण ‘हिरण्यनी’ कहा गया है।

Vedic Period MCQ

11. वैदिक नदी अस्किनी की पहचान निम्नांकित नदियों में से किस एक के साथ की जाती है?

  1. ब्यास
  2. रावी
  3. चेनाब
  4. झेलम

उत्तर- 3

वैदिक नदी अस्किनी की पहचान चेनाब नदी से की गई है। अतः विकल्प (c) सही उत्तर है।

12. ऋग्वेद में निम्नांकित किन नदियों का उल्लेख अफगानिस्तान के साथ आर्यों के संबंध का सूचक है?

  1. अस्किनी
  2. परुष्णी
  3. कुभा, क्रुमु
  4. विपाशा, शुतुद्री

उत्तर- 3

ऋग्वेद में उल्लिखित कुभा (काबुल), क्रुमु (कुर्रम), गोमती (गोमल) एवं सुवास्तु (स्वात) नदियां अफगानिस्तान में बहती थीं। इन नदियों के उल्लेख से स्पष्ट होता है कि आर्यों का अफगानिस्तान के साथ गहन संबंध था।

13. “धर्म” तथा “ऋत” भारत की प्राचीन वैदिक सभ्यता के एक केंद्रीय विचार को चित्रित करते हैं। इस संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए :

  1. धर्म व्यक्ति के दायित्वों एवं स्वयं तथा दूसरों के प्रति व्यक्तिगत कर्तव्यों की संकल्पना था।
  2. ऋत मूलभूत नैतिक विधान था, जो सृष्टि और उसमें अंतर्निहित सारे तत्वों के क्रियाकलापों को संचालित करता था। 

उपर्युक्त में से कौन-सा / कौन-से कथन सही है/हैं?

  1. केवल 1
  2. केवल 2
  3. 1 और 2 दोनों
  4. न तो 1 और न ही 2

उत्तर- 3

प्रश्नगत दोनों कथन भारत की प्राचीन वैदिक सभ्यता के संदर्भ में सही हैं। अतः सही उत्तर विकल्प (c) होगा। ‘वरुण’ देवता को वैदिक सभ्यता में ‘नैतिक व्यवस्था’ का प्रधान माना जाता था। इसी कारण उन्हें ऋतस्पगोपा भी कहा जाता था।

14, भारतीय संस्कृति के अंतर्गत ‘ऋत’ का अर्थ है-

  1. प्राकृतिक नियम
  2. कृत्रिम नियम
  3. मानवीय नियम
  4. सामाजिक नियम
  5. इनमें से कोई नहीं

उत्तर- 1

ऋग्वेद में हमें धर्म के अतिरिक्त दूसरा शब्द ऋत मिलता है। सभी देवताओं का संबंध ऋत (विश्व की नैतिक एवं भौतिक व्यवस्था) से माना गया है। ऋग्वेद में इसका वर्णन है। सृष्टि के आदि में सर्वप्रथम ऋत की उत्पत्ति हुई थी। ऋत के द्वारा विश्व में सुव्यवस्था तथा प्रतिष्ठा स्थापित होती है। यह विश्व की व्यवस्था का नियामक है।

15. निम्नलिखित वैदिक देवताओं में किसे उनका पुरोहित माना जाता था?

  1. अग्नि
  2. बृहस्पति
  3. द्यौस
  4. इन्द्र

उत्तर- 2

बृहस्पति जी को वैदिक देवताओं का पुरोहित माना जाता था।

Vedic Period MCQ

16. ऋग्वैदिक काल में निष्क किस अंग का आभूषण था ?

  1. कान का
  2. गला का 
  3. बाहु का
  4. कलाई का

उत्तर- 2

ऋग्वैदिक काल में निष्क गले में पहना जाने वाला एक प्रकार का हार था साथ ही निष्क, वैदिक काल में विनिमय का एक माध्यम भी था।

17. निम्नलिखित में से किसने आर्यों के आदि देश के बारे में लिखा था ? 

  1. शंकराचार्य
  2. एनी बेसेंट
  3. विवेकानंद
  4. बाल गंगाधर तिलक

उत्तर- 4

बाल गंगाधर तिलक ने आर्यों के आदि देश के बारे में लिखा था। तिलक ने यह मत व्यक्त किया था कि आर्यों का आदि देश उत्तरी ध्रुव था। किंतु तिलक का यह मत इतिहासकारों में मान्य नहीं है।

18. शतपथ ब्राह्मण में उल्लिखित राजा विदेघ माधव से संबंधित ऋषि थे-

  1. ऋषि भारद्वाज
  2. ऋषि वशिष्ठ
  3. ऋषि विश्वामित्र
  4. ऋषि गौतम रहुगण 

उत्तर- 4

आर्यों के पूर्व दिशा की ओर प्रसार के विषय में शतपथ ब्राह्मण में वर्णित विदेघ माधव की आख्यायिका उल्लेखनीय है। इसके अनुसार राजा विदेघ माधव से संबंधित ऋषि गौतम रहुगण थे।

19. उत्तर वैदिक काल में निम्नलिखित में से किनको आर्य संस्कृति का धुर समझा जाता था?

  1. अंग, मगध
  2. कोसल, विदेह
  3. कुरु, पंचाल
  4. मत्स्य, शूरसेन

उत्तर- 3

उत्तर वैदिक काल में नगरीकरण की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी थी। कुरु, पंचाल इस समय के प्रमुख नगर बन गए थे तथा ये नगर उत्तर वैदिक सभ्यता के मुख्य केंद्र या धुर (Hub) थे।

20. गोत्र शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम हुआ था-

  1. अथर्ववेद में
  2. ऋग्वेद में
  3. सामवेद में
  4. यजुर्वेद में

उत्तर- 2

गोत्र शब्द का सर्वप्रथम उल्लेख ऋग्वेद में हुआ था। गोत्र शब्द का मूल अर्थ है-‘गोष्ठ’ अथवा वह स्थान जहां समूचे कुल का गोधन पाला जाता था।

Vedic Period MCQ

21. पूर्व-वैदिक आर्यों का धर्म प्रमुखतः था-

  1. भक्ति
  2. मूर्ति पूजा और यज्ञ
  3. प्रकृति पूजा और यज्ञ
  4. प्रकृति पूजा और भक्ति

उत्तर- 3

पूर्व वैदिक आर्यों का धर्म मुख्यतः प्रकृति पूजा और यज्ञ पर आधारित था। भक्ति तथा मूर्ति पूजा का उदय मौर्योत्तर काल में हुआ था।

22. ऋग्वेद काल में जनता निम्न में से मुख्यतया किसमें विश्वास करती थी ?

  1. मूर्ति पूजा
  2. एकेश्वरवाद
  3. देवी पूजा
  4. बलि एवं कर्मकांड

उत्तर- 4

ऋग्वैदिक काल में लोग प्रकृति की शक्तियों-वैदिक देवता एवं देवियों की प्रार्थना, यज्ञ (जिसमें बलि और कुछ कर्मकांड निहित थे) में विश्वास करते थे, की प्रधानता थी।

23. प्राचीन काल में आयों के जीविकोपार्जन का मुख्य साधन था—

  1. कृषि
  2. शिकार 
  3. शिल्पकर्म
  4. व्यापार

उत्तर- 1

आर्य संस्कृति मूलतः पशुपालक और कृषक संस्कृति रही है। ऋग्वेद में कई मंत्रों में कृषि तथा उसके कार्यकलापों का वर्णन है। अच्छी कृषि के लिए वर्षा की कामना की गई है तथा पशुओं को चराने और पालने का अनेक स्थलों पर वर्णन है। उत्तर वैदिक काल तो कृषि प्रधान था। संस्कृति ही था।

24. ऋग्वेद में उल्लिखित ‘यव’ शब्द किस कृषि उत्पाद हेतु प्रयुक्त किया गया है ?

  1. जौ
  2. चना
  3. चावल
  4. गेहूं 

उत्तर- 1

ऋग्वेद में उल्लिखित ‘यव’ शब्द का जौ से तादात्म्य स्थापित किया गया है।

25. ऋग्वैदिक “पणि” किस वर्ग के नागरिक थे?

  1. पुरोहित
  2. लोहार
  3. स्वर्णकार
  4. व्यापारी

उत्तर- 4

व्यापार-वाणिज्य प्रधानतः ‘पणि’ लोग करते थे। ऋग्वेद में ‘पणि’ शब्द का उल्लेख कई स्थानों पर हुआ है। पणि ऋण देते थे तथा व्याज बहुत अधिक लेते थे। उन्हें ‘बेकनाट’ (सूदखोर) कहा गया है।

Vedic Period MCQ

26. वैदिक युग में प्रचलित लोकप्रिय शासन प्रणाली थी-

  1. निरंकुश
  2. प्रजातंत्र
  3. गणतंत्र
  4. वंश परंपरागत राजतंत्र

उत्तर- 4

वैदिक काल में प्रचलित लोकप्रिय शासन प्रणाली-वंश परंपरागत राजतंत्र थी। यद्यपि जनता द्वारा चुनाव के भी कुछ उदाहरण मिलते हैं।

27. किस वेद में सभा और समिति को प्रजापति की दो पुत्रियां कहा गया है ?

  1. ऋग्वेद
  2. सामवेद
  3. यजुर्वेद
  4. अथर्ववेद

उत्तर- 4

अथर्ववेद में सभा और समिति को प्रजापति की दो पुत्रियों कहा गया है।

28. ऋग्वैदिक जन सभा जो न्यायिक कार्यों से संबंधित थी-

  1. सभा
  2. समिति
  3. विद्याता
  4. उपर्युक्त में से सभी

उत्तर- 1

सभा, समिति एवं विदथ ऋग्वैदिक कालीन जनतांत्रिक संस्थाएं थीं। इन संस्थाओं में सभा न्यायिक कार्यों से संबंधित थी। ऋग्वेद में सभा का आठ बार उल्लेख हुआ है।

29. ‘आयुर्वेद’ अर्थात ‘जीवन का विज्ञान’ का उल्लेख सर्वप्रथम मिलता है-

  1. आरण्यक में
  2. सामवेद में
  3. यजुर्वेद में
  4. अथर्ववेद में

उत्तर- 4

अथर्ववेद में सामान्य मनुष्यों के विचारों तथा अंधविश्वासों का विवरण मिलता है। इसमें विविध विषयों यथा-रोग-निवारण, समन्वय, राजभक्ति, विवाह तथा प्रणय-गीतों आदि के विवरण सुरक्षित हैं।

30. 800 से 600 ईसा पूर्व का काल किस युग से जुड़ा है?

  1. ब्राह्मण युग
  2. सूत्र युग
  3. रामायण युग
  4. महाभारत युग

उत्तर- 1

800 से 600 ईसा पूर्व का काल ब्राह्मण ग्रंथों के प्रणयन युग से जुड़ा है। प्रायः सातवीं या छठीं शताब्दी ई. पू. से लेकर तीसरी शताब्दी ई. पू. तक का समय सूत्र काल कहा जाता है।

31.गायत्री मंत्र किस पुस्तक में मिलता है?

  1. उपनिषद
  2. भगवद्गीता 
  3. यजुर्वेद
  4. ऋग्वेद

उत्तर- 3

‘गायत्री मंत्र’ ऋग्वेद में उल्लिखित है। इसके रचनाकार विश्वामित्र हैं। यह सविता (सूर्य देवता) को समर्पित है। यह मंत्र ऋग्वेद के तृतीय मंडल में वर्णित है।

32. पुराणों की संख्या हैं-

  1. 16
  2. 18
  3. 19
  4. 21

उत्तर- 2

पुराणों की संख्या 18 हैं। इनकी रचना लोमहर्ष ऋषि तथा उनके पुत्र उग्रश्रवा द्वारा की गई थी।

33. ‘श्रीमद्भागवद्गीता’ मौलिक रूप में किस भाषा में लिखी गई थी ?

  1. संस्कृत
  2. उर्दू
  3. पाली
  4. हिंदी

उत्तर- 1

Vedic Period MCQ

‘श्रीमद्भागवद्गीता’ मौलिक रूप से संस्कृत भाषा में लिखी गई थी। यह प्राचीन धार्मिक ग्रंथ ‘महाभारत’ का एक भाग है।

UPSCSITE के साथ “प्राचीन भारत का इतिहास” Vedic Period MCQ [30+ Ques] : वैदिक सभ्यता प्रश्नोत्तरी की मदद से, सभी छात्र जो विभिन्न प्रतियोगी या प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, वे आसानी से हमारी वेबसाइट तैयारी और अभ्यास कर सकते हैं। IBPS, RRB, SSC CGL, GRI, SSC CHSL, SSC MTS, CET, BANKING SECTOR, IT Company Recruitment Round, UPSC, State PCS, SSC, SSSC, University Entrance Exam, CDS, NDS, जैसे कई प्रतियोगी परीक्षाएं विभिन्न सरकारों के साथ-साथ निजी संगठनों द्वारा अन्य परीक्षाओं के लिए भारतीय इतिहास पर प्रश्न शामिल हैं।

Vedic Period MCQ

Join Telegram ChannelLink
Join Whatsapp GroupLink
Doubt Discussion GroupJoin us
Vedic Period MCQ

सामान्य ज्ञान भारतीय इतिहास Vedic Period MCQ [30+ Ques] : वैदिक सभ्यता प्रश्नोत्तरी में प्रश्नोत्तरी के रूप में सामान्य ज्ञान और सामान्य जागरूकता प्रश्न और उत्तर की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल है। ये भारतीय इतिहास मॉक टेस्ट उन सभी विषयों को कवर करते हैं जो सभी छात्रों के लिए किसी भी प्रतियोगी परीक्षा के लिए उपयोगी हो सकते हैं।

For getting all UPSCSITE, subject wise mcq series, & government job notification visit our website regularly. Type always google search upscsite.in

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button